घर पर बनाएं भृंगराज से आयुर्वेदिक तेल, डैंड्रफ और झड़ते बालों से मिलेगा छुटकारा

0
162

भृंगराज एक पौधा है, जो भारतीय चिकित्सा शास्त्र में औषधि के रूप में जाना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार भृंगराज को ‘रसायन’ माना जाता है। बालों की सभी समस्याओं में भृंगराज का प्रयोग बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसके अलावा भृंगराज कई दूसरे रोगों में भी फायदेमंद है इसलिए इसे कई आयुर्वेदिक औषधियों में प्रयोग किया जाता है। भृंगराज में ऊर्जावान बनाने और उम्र के असर को कम करने के गुण होते हैं। बालों की समस्याओं के लिए आप घर पर ही भृंगराज का तेल बना सकते हैं।

घर पर कैसे बनाएं भृंगराज का तेल

  • भृंगराज का तेल बनाने के लिए सबसे पहले भृंगराज के पत्तों का रस निकाल लें
  • इस रस में बराबर मात्रा में नारियल का तेल मिलाएं।
  • रस और तेल को अच्छी तरह मिलाकर धीमी आंच पर पकाएं।
  • रस पूरी तरह तेल में मिल जाए और जब सिर्फ तेल बचे, तो आंच बंद कर दें।
  • अगर आप बालों के गिरने की समस्या से परेशान हैं, तो आंच पर चढ़ाने से पहले इसी में आंवला का रस भी मिला लें।

बालों को बढ़ाने में मदद करता है भृंगराज का तेल

आयुर्वेद के मुताबिक बालों का झड़ना और बालों से जुड़ी अन्‍य समस्‍यायें पित्‍त दोष के कारण होती हैं, और भृंगराज का तेल इसी समस्‍या को दूर करने में मदद करता है। यह बालों को बढ़ाने में मदद करता है। नियमित तौर पर बालों में भृंगराज तेल से मसाज करने से स्‍कैल्‍प में रक्‍त प्रवाह बढ़ जाता है। इससे बालों की जड़ें सक्रिय हो जाती हैं और बालों का बढ़ना शुरू हो जाता है।

डैंड्रफ की समस्या में भृंगराज का तेल

भृंगराज के तेल से नियमित मसाज करने से स्‍कैल्‍प पर संक्रमण नहीं होता। अगर आपके बाल झड़ रहे हो या आप रूसी की समस्‍या से निजात पाने चाहते हैं तो भृंगराज का इस्तेमाल आपके लिए अचूक औषधि साबित होगा। रोजाना भृंगराज तेल से बालों में मालिश करने से बाल काले और घने होते हैं। इससे बालों का झड़ना बंद हो जाता है। यह सिर को ठंडक भी पहुंचाता है।  इसका नियमित इस्‍तेमाल बालों को असमय सफेद होने से रोकता है और बालों का कुदरती रंग बरकरार रखता है।

भृंगराज के प्रयोग में बरतें सावधानी

भृंगराज एक कुदरती उत्‍पाद है और इसलिए इसके कोई दुष्‍प्रभाव नहीं होते। हालांकि, इसकी ठंडी प्रकृति के कारण रात भर इसे लगाकर सोने की सलाह नहीं दी जाती। इसके साथ ही सर्दियों में भी इसका इस्‍तेमाल नहीं करने की सलाह दी जाती है। खासतौर पर उन लोगों को जिन्‍हें ठंड अधिक लगती हो।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

four × 3 =