शरीर को स्वस्थ रहने के उपाय हिंदी में

0
190

सभी लोग अच्छा जीवन व्यतीत करना चाहते है और चाहते है की उनकी जिन्दगी में खुशिया बनी रहे उनमे से आपका स्वास्थ्य एक बहुत बड़ा रोल है जो आपकी लाइफ में खुशिया लायेगा. इसीलिए मैंने इस आर्टिकल में स्वस्थ रहने के उपाय बताये है.

अगर आपके पास बहुत सारी दोलत है, आपके पास दुनिया भर की सारी खुशी है पर आपका शरीर अच्छा नही है तो वो सारी दोलत और खुसिया बेकार है. क्योंकि अगर स्वास्थ्य ही अच्छा न हो तो आपको कोई भी काम करने में मजा नही आयेगा. (आलस और बिमारी बनी रहेगी).

तो उसी सब मुसीबत को भगाने के लिए मैंने स्वस्थ रहने के सरल उपाय बताये है जिनको आप फॉलो करके अपना शरीर अच्छा बना सकते हो. तो आईये पढना शुरू करते है.”

स्वस्थ रहने के उपाय | स्वस्थ रहने के नियम

जीवन में स्वस्थ रहने के आयुर्वेदिक उपाय जो इस प्रकार है-

स्वच्छता – स्वास्थ्य रक्षा के लिए स्वच्छ रहना परमावश्यक है. सारे दिन काम से शरीर पसीने से भर जाता है; कपड़े मैले हो जाते है. इनसे शरीर में रोग उत्पनं हो जाता है.

व्यायाम – शरीर रक्षा का एक साधन व्यायाम भी है. व्यायाम से शरीर में रक्त का संचार ठीक रहता है, माँसपेशियों में बल आता है और इन्द्रियाँ भी शक्ति सम्पनं बनती है. दण्ड-बैठक, दोड़, खेल, प्रातः भ्रमण आदि से शरीर का अच्छा व्यायाम हो जाता है.”

संतुलित भोजन – स्वस्थ रहने के लिए भोजन का महत्व है. भोजन से शरीर में रक्त का निर्माण होता है तथा शरीर को शक्ति मिलती है. अत: भोजन भी पोष्टिक, संतुलित तथा स्वास्थ्यकर होना चाहिए. भोजन को हमेशा चबा-चबाकर अच्छे से खाये और जब खाना खाये तो अपना सारा ध्यान भोजन पर ही केन्द्रित करे.”

पानी – जब भी आप भोजन करो तो उससे 40 मिनट पहले और 60-90 मिनट के बाद ही पानी पिए. जो पानी फ्रीज मै पड़ा हो और बर्फ में डला हुआ पानी को न पिये हमेशा पानी को थोडा गुनगुना या मिट्टी के घडे का पानी ही पिये. जितना ज्यादा हो सके उतना पानी पिये.”

शरीर –  अपने शरीर को हमेशा सीधा ही रखे. हमेशा तनकर ही बैठे, तनकर ही चलें और जब खड़े रहे तब भी तनकर ही खड़े रहे. इससे आपके शरीर में चुस्ती बनी रहेगी.”

नींद – गहरी और शान्त से शरीर नींद से शरीर की थकावट दूर होती है तथा स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क भी बना रहता है. अच्छी नींद से भी स्वास्थ्य बढ़ता है.”

स्वस्थ आहार – टाइम के अनुसार ही भोजन करें, जितना हो उतना ही भोजन करे (जबरदस्ती अपना पेट न भरे). भोजन को कम-से कम 32 बार चबाकर खाये और जब भोजन करने लगो तो अपने हाथो को अच्छे से धोये और भोजन को बैठ करके खाये.”

ब्रेकफास्ट – ब्रेकफास्ट में चाये न पिए, सिर्फ दूंध ही पिए और अगर हो सके तो 2 उबले हुए अंडे खाये.”

सुबह – रोज सुबह 5 बजे उठकर 2 से 3 किलोमीटर पैदल घुमने के लिए जाए. पार्क में जो घास होती है वहा पर नंगे पैर चले. इसको करने से आपके शरीर को अच्छा लगेगा और शरीर में ताजगी बनी रहेगी.”

मोटापा – मोटापा आपके स्वास्थ्य के लिये बिलकुल भी अच्छा नही है. मोटापा दूर करने के लिए आप जितना हो सके कम-सेकम तैलीय व मीठे पदार्थ खाये. ज्यादा तैलीय व मीठे पदार्थ खाने से मोटापा आता है और शरीर में आलस व सुस्ती बनी रहती है.”

उपवास – अगर हो सके तो कभी-कभी एक टाइम का भोजन ग्रेहन न करे.”

फल और जूस – जितना ज्यादा हो फल को खाये और उनका जूस बनाकर पिये (एप्पल, केला, सेब, अंकुर इत्यादि)

इसके साथ ही अपने घर की और आसपास की सफाई भी आवश्यक है. पानी भी स्वच्छ पीना चाहिए तथा शुद्ध वायु का सेवन करना चाहिए.”

वाहन – जितना ज्यादा हो वाहन जैसे बाइक, कार का इस्तेमाल कम करे. अगर आपको आस-पास ही जाना है तो पैदल चलकर जाये. इससे आपके मांसपेशियों का व्यायाम होगा और आपका शरीर फिट रहगा.”

मैडिटेशन – रोज 10 से 15 मिनट अकेले किसी शान्त जगह पर जाकर मैडिटेशन जरुर करे. यह आपके दिमाग और शरीर को चुस्त करने मैं बहुत हेल्प करेगी.”

मोटिवेशनल – कभी भी रोने वाले गाने न सुने हमेशा मोटिवेशनल वाले गाने सुने जिससे आपका दिमाग हमेशा पॉजिटिव रहे और आपको काम करने की हिम्मत मिले.”

घर – घर के छोटे-मोटे काम आप स्वयं करे जैसे की बजार जाकर सामान लाना, घर की सफाई इत्यादि.

नींद – रोज सुभह और रात को सोने से पहले भ्रश जरुर करे और जब सोने जाओ तो हल्के कपड़े पहनकर सोये, टाईट कपड़े पहनकर न सोये.”

बाल – अपने बालों को हमेशा साफ़ रखे. बालो में हमेशा तेल लगाए. हफ्ते मैं 1 बार अपने बालों की चम्पी (मालिश) जरुर करवाये.”

नहाना – रोज सुबह उठकर नहाये और अच्छे कपड़े पहने. इससे आप खुबसूरत दीखते है और शरीर में भी थोड़ी बहुत उर्जा आती है.”

क्रोध – क्रोध न करे यह आपके शरीर, मन और विचारों की सुन्दरता समाप्त कर देती है. हमेशा खुश और मुस्कुराते रहिये और खुशिया बाटते रहिये.”

फोकस – जो भी आप काम कर रहे है उसपर अपना पूरा फोकस रखे और अपने लक्ष्य को पाने की कोशिश करे.”

ध्रूमपान, शराब – अगर आपको अपना स्वास्थ्य अच्छा रखना है तो कभी भी अपनी जिन्दगी में “सिगरेट, शराब, तम्बाकू इत्यादि” का सेवन न करे. यह आपके शरीर के लिए जानलेवा है.”

वाणी – हमेशा अपने मुह से अच्छे स्वर निकाले, किसी से भी गाली देकर बात न करे.”

ब्रहाचर्य – मन, वचन और कर्म पर सयम रखना; सदाचारी रहना ब्रहाचर्य के लक्षण है. ब्रहाचर्य भी स्वास्थ्य रक्षा का बहुत बड़ा साधन है.

इनके साथ कभी-कभी उपवास करने से और सदा हँसमुख रहने से भी स्वास्थ्य बढ़ता है.”

नोट – दोस्तों इस आर्टिकल में मैंने स्वस्थ रहने के उपाय बताये है. अगर आपको ओर स्वस्थ रहने के तरीके पता है तो प्लीज उन तरीको को आप कमेंट करके हमारे साथ शेयर जरुर करे और इन सारे पॉइंट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर जरुर करे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

11 + 19 =